हीरानगर के जेल में एक नाबालिग अविवाहित रोहिग्या लड़की गर्भवती हो गई। यह मामला प्रकाश में तब आया, जब प्रसव पीड़ा होने पर उसे कठुआ मेडिकल कालेज अस्पताल लाया गया। इस मामले में पुलिस प्रशासन अभी कुछ भी बोलने से बच रही है।
ज्ञात रहे कि हीरानगर जेल को पिछले दिनों रोहिग्याओं के लिए होल्डिंग सेंटर बनाया गया था। यहां जम्मू के विभिन्न इलाकों में अवैध तरीके से रहने वाले रोहिग्याओं को पकड़ कर रखा गया। इसमें कई परिवार भी शामिल हैं। इन्हीं में अपने परिवार के साथ रह रही एक नाबालिग लड़की को अचानक प्रसव पीड़ा होने लगी तो सोमवार शाम को उसे जीएमसी कठुआ में भर्ती कराया गया। जेल से एंबुलेंस में लाई गई लड़की अस्पताल में फिलहाल स्वस्थ है। उसके साथ उसके परिवार की महिला सदस्य भी तीमारदार के रूप में आई है। नाबालिग की हालत हालांकि सामान्य है। डॉक्टर उसका उपचार कर रहे हैं। कड़ी सुरक्षा के बीच जीएमसी लाने के बाद यहां भी उन्हें कड़ी सुरक्षा में ही रखा गया है। वार्ड के बाहर पुलिस का पहरा भी लगा दिया गया है। नाबालिग कैसे गर्भवती हुई, इस बारे में उनके साथ आई महिलाएं कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं। गर्भवती होने की बात बताने की बजाय वे सिर्फ लड़की के बीमार होने की बात कर रही हैं।
गौरतलब है कि हीरानगर जेल में गत फरवरी में 195 के करीब रोहिग्याओं को होल्डिंग सेंटर बनाकर रखा गया था। सरकार ने उन्हें वापस उनके देश भेजने की प्रक्रिया शुरू की। यह प्रक्रिया अभी चल रही रही है। इस दौरान हालांकि होल्डिंग सेंटर में कुछ और भी डिलीवरी हुई हैं। वहां कई दंपती भी रह रहे हैं। नाबालिग के गर्भवती होने के बाद मामला चर्चा में आ गया है।