बिश्नाह तहसील के अधीन आने वाले चार गांवों में आग के कहर ने खेतों में खड़ी 400 कनाल गेहूं की फसल को राख कर दिया। गांव चक भगवाना,मुजफ्फरपुर, बहादुरपुर और हरसा दबड़ के खेतों में आग लगने से किसानों की मेहनत आग कहर बनकर टूट पड़ी जिससे किसानों की भारी आर्थिक नुकसान भी पहुंचा।

इस आग से हरसा दबड़ में मास्टर राजा राम की 15 बोरियों में भरी गेहूं की फसल भी आग में जलकर राख हो गई। आग इतनी तेजी से फैली कि खेतोें के आसपास मौजूद लोगों को भागकर अपनी जान बचानी पड़ी। जिस समय हरसा दबड़ में आग लगी उस समय दमकल विभाग की गाड़ियां गांव चक भगवाना में खेतों में लगी आग बुझाने गई थी जिसके चलते लोगों ने ही प्रयास कर आग को आगे बढ़ने से रोका।

वहीं बिश्नाह भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व विधायक अश्विनी कुमार शर्मा ने मौके पर पहुंच कर किसानों से मुलाकात की और उनको प्रशासन की तरफ से हर संभव मदद दिलाने का भरोसा दिलाया। अश्विनी शर्मा ने बताया कि आग लगने से गांव हरसा दबड्ड से मास्टर राजाराम, मंगतराम और प्रदीप कुमार गांव मुजफ्फरपुर से करनैल सिंह, राशपाल, जगदीश राज, सुभाष चंद्र, चुन्नीलाल ,मोहन लाल ,रमेश लाल, श्याम लाल ,अशोक कुमार नाथी राम, दर्शन लाल और मंगतराम की फसल को नुकसान पहुंचा है।