रिलायंस कंपनी की ओर से जम्मू में रिटेल स्टोर खोलने समेत जम्मू की अनदेखी के विरोध में चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री जम्मू आज बड़ा एलान करने वाली है। चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री इन मुद्दों पर बुधवार को जम्मू बंद करवाने जा रही है जिसकी घोषणा शनिवार दोपहर को एक पत्रकार वार्ता में होने की संभावना है।
इस मुद्दे पर ट्रेडर्स फेडरेशन वेयर हाउस नेहरू मार्केट ने गत दिनों एक संवाददाता सम्मेलन कर सरकार के इस कदम के खिलाफ व्यापक आंदोलन छेड़ने की चेतावनी दी थी और अब उद्योग व व्यापार जगत के सर्वोच्च संगठन चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री जम्मू की ओर से भी जम्मू के व्यापारियों के मुद्दे पर शनिवार को एक पत्रकार वार्ता की जा रही है। ऐसी पूरी संभावना है कि इस दौरान जम्मू बंद का आह्वान किया जाएगा।
जम्मू में व्यापारियों के संगठनों की बात करें तो चैंबर व वेयर हाउस के अलावा चैंबर आफ ट्रेडर्स फेडरेशन, रिटेलर्स फेडरेशन जम्मू, रघुनाथ बाजार बिजनेसमैन एसोसिएशन, कनक मंडी ट्रेडर्स एसोसिएशन व अप्सरा रोड ट्रेडर्स एसाेसिएशन मुख्य संगठन है और वेयर हाउस फेडरेशन के प्रधान दीपक गुप्ता की ओर से रिलायंस स्टोर खोलने का मुद्दा उठाए जाने के साथ सभी संगठन अब एकजुट होकर आवाज बुलंद करने की तैयारी में है।
जम्मू के लोगों और खासतौर पर व्यापारियों की काफी अनदेखी हो रही है। जम्मू-कश्मीर प्रशासन जम्मू के व्यापारियों की सुध नहीं ले रहा। पहले जम्मू में बेस्ट प्राइज खोला गया, अब रिलायंस स्टोर खोलने की तैयारी है। यह सिर्फ जम्मू में ही हो रहा है। केंद्र सरकार का भी कश्मीर के प्रति प्रेम भंग नहीं हो रहा। कश्मीर हमारा हिस्सा है और उसके साथ प्रेम वाजिब भी है लेकिन जम्मू की अनदेखी करके यह प्रेम बर्दाश्त के बाहर है। अब समय आ गया है कि इस अनदेखी के खिलाफ सख्त कदम उठाया जाए। – अरूण गुप्ता, प्रधान चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री जम्मू
-सरकार कहती है कि बड़े स्टोर खुलेंगे तो युवाओं को रोजगार मिलेगा। मै पूछता हूं कि अगर एक स्टोर खुलने से 100 लोगों को रोजगार मिलता है तो उस एक स्टोर की वजह से जो 100 दुकानें बंद होगी और 500 लोग बेरोजगार होंगे, उसका जिम्मेदार कौन होगा? बेस्ट प्राइज को ही देख ले। इसके खुलने से एक किलोमीटर दायरे में दुकानदारों का कामकाज बंद हो गया। कुछ ने दुकानें बंद कर दी तो कुछ ने परिवार पालने के लिए काम बदल लिए। जम्मू बहुत छोटा शहर है। यहां गली-मुहल्लों में छोटी-छोटी दुकानें है जो ऐसे स्टोर खुलने से बंद हो जाएगी। इसलिए इन्हें रोकने के लिए व्यापारी हर मोर्चे पर लड़ाई के लिए तैयार है। -दीपक गुप्ता, प्रधान ट्रेडर्स फेडरेशन वेयर हाउस-नेहरू मार्केट