TS Wazir Murder Case: हरप्रीत ने उकसाया वजीर को मारने के लिए हरमीत ने दिया पुलिस को बयान

नेशनल कांफ्रेंस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व एमएलसी टीएस वजीर हत्याकांड के मुख्य आरोपित हरमीत सिंह ने दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच शाखा को बयान दिया है| कि टीएस वजीर को मारने के लिए उसे हरप्रीत ने उकसाया था। उसने उसे कहा कि टीएस वजीर उसके बेटे को मारने की साजिश रच रहा है और इसके लिए उसने पंजाब और हरियाणा के गैंगस्टरों को काम पर रखा है। उन्हें यह काम सौंपने के बाद वह खुद कनाडा भाग रहा है।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गत रविवार को टीएस वजीर हत्याकांड के मुख्य आरोपित हरमीत सिंह को जिला सांबा के एक सीमांत गांव से गिरफ्तार कर लिया। यही नहीं उसने जिस पिस्ताैल से वजीर को गोली मारी थी, उसे भी बरामद कर लिया गया है। हरमीत सिंह निवासी नानक नगर, जम्मू को गिरफ्तार करने के बाद क्राइम ब्रांच सीधे दिल्ली के लिए रवाना हो गए।

क्राइम ब्रांच ने हरमीत सिंह की गिरफ्तारी की भनक सांबा पुलिस को भी लगने नहीं दी। एसएसपी सांबा राजेश शर्मा का कहना है कि उन्हें हरमीत सिंह की गिरफ्तारी के बारे में कोई सूचना नहीं है। दिल्ली क्राइम ब्रांच ने हमे इस बारे में कुछ नहीं बताया है।

वजीर हत्याकांड की जांच कर रही दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को मुख्य हत्यारोपी हरमीत सिंह के सांबा और विजयपुर के बीच एक गांव में छुपे होने की सूचना मिली थी। जिसके बाद से बीते दो दिन से दिल्ली पुलिस वहां देखी जा रही थी। यह अभी पता नहीं चल पाया है कि हरमीत सिंह कहा और किसे के घर पर छुपा हुआ था।

दिल्ली पुलिस ने इससे पूर्व इस हत्याकांड में शामिल एक आरोपित राजू गंजा को भी सांबा से ही गिरफ्तार किया था। जिसके बाद इस हत्याकांड की परते खुल पाई थी। ऐसा कहा जा रहा है कि उसने ही पूछताछ के दौरान हरमीत के सांबा में छिपे हाेने का खुलासा किया है। हरमीत की गिरफ्तार के बाद अब इस हत्याकांड की सच्चाई सामने आ जाएगी।

यहां यह बता दें कि टीएस वजीर की हत्या का पता नौ सितंबर को चला था। इसके बाद इस हत्याकांड की जांच को गुमराह करने के लिए इंटरनेट मीडिया पर हत्या का कबूलनामा वायरल हुआ था। वायरल कबूलनामे के मामले में दिल्ली की क्राइम ब्रांच ने आइपी एड्रेस की मदद से एक युवक को गिरफ्तार किया था। 15 सितंबर को दिल्ली पुलिस ने वजीर हत्याकांड में पहली गिरफ्तार राजू गंजा की कि थी। इसके बाद एक अन्य आरोपित को भी गिरफ्तार करने का दिल्ली पुलिस ने दावा किया था।