प्रधानमंत्री मोदी जम्मू-कश्मीर को देते हैं विशेष प्राथमिकता : जितेंद्र सिंह

प्रधानमंत्री कार्यालय मं राज्यमंत्री डा. जितेंद्र सिंह ने एक बार फिर दोहराया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू और कश्मीर को विशेष प्राथमिकता दी है जिसके कारण कश्मीर की पहली जैसे गौरव को बहाल किया जा रहा है। उन्होंने श्रीनगर के एसकेआईसीसी में व्यापार, वाणिज्य, उद्योग, पर्यटन, होटल, हाउसबोट, शिकारा, परिवहन और अन्य हितधारकों के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत करते हुए यह बात कही।

मंत्री ने कहा कि पीएम मोदी खुद जम्मू-कश्मीर से जुड़े मामलों और मुद्दों में गहरी दिलचस्पी ले रहे हैं और हर परियोजना की खुद निगरानी कर रहे हैं। जम्मू-कश्मीर उनके दिल के करीब है। व्यापार, पर्यटन, होटल व्यवसायियों, रेस्तरां और अन्य व्यवसाय के प्रतिनिधियों के मुद्दों, समस्याओं और शिकायतों को सुनते हुए, डा. सिंह ने उन्हें आश्वासन दिया कि सभी वजायज मुद्दों को प्राथमिकता के आधार पर हल किया जाएगा। सिंह ने कहा वह विश्वास दिलाना चाहते हैं कि सभी मुद्दों को जल्द से जल्द सुलझा लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली वर्तमान सरकार उत्तरदायी है। यह जिम्मेदार सरकार की पहचान है।

जम्मू-कश्मीर को पर्यटन के क्षेत्र में आगे बढ़ाने के लिए कई कदम उठाए गए हैं। जम्मू-कश्मीर फिल्म नीति भी इसी का हिस्सा है। इससे भी जम्मू-कश्मीर में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि अगले साल रेल मार्ग से भी कश्मीर देश के अन्य भागों के साथ जुड़ जाएगा। इससे भी पर्यटन के अलावा रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे।

इस अवसर पर कश्मीर चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज, एफसीआइके, कश्मीर इकोनॉमिक एलायंस, रेस्तरां और हज और उमराह एसोसिएशन, आर्टिसन्स रिहैबिलिटेशन फोरम, कश्मीर ट्रेडर्स एंड मैन्युफैक्चरर्स फेडरेशन, जेके होटल्स एंड रेस्टोरेंट्स एसोसिएशन, हाउसबोट ओनर्स एसोसिएशन, होटलियर्स क्लब के प्रतिनिधि उपस्थित थे। सभी ने अपने-अपने क्षेत्र से संबंधित मुद्दों को उठाया और उनका समाधान करने की मांग की।

इससे पहले मंत्री ने केंद्र के कामकाज की समीक्षा के लिए श्रीनगर के बेमिना में स्काडा डाटा सेंटर का दौरा किया। उनके साथ प्रबंध निदेशक कश्मीर पावर डिस्ट्रीब्यूशन कॉर्पोरेशन लिमिटेड बशारत कयूम और कई अन्य अधिकारी थे। मंत्री को स्काडा केंद्र और इसकी विशेषताओं और केंद्र शासित प्रदेश श्रीनगर और जम्मू के दोनों शहरों में परियोजना के तहत कार्यों की प्रगति के बारे में जानकारी दी गई। उन्होंने कहा कि श्रीनगर और जम्मू के दोनों शहर इस अत्याधुनिक बिजली आपूर्ति सुविधा के लिए चुने गए 59 भारतीय शहरों में से हैं।

डॉ सिंह ने ई-कस्टमर केयर सेंटर का भी निरीक्षण किया, जो बिजली व्यवस्था से संबंधित लोगों की शिकायतों को पूरा करने के लिए चैबीसों घंटे काम करता है।