शहर से लगते बठिडी इलाके में अखरोट फैक्ट्री से लापता हुई बच्ची का शव गटर से मिला है। पांच वर्षीय बच्ची शुमी अपनी मां के साथ अखरोट फैक्ट्री में गई थी। बच्ची की मां फैक्ट्री में काम करती है। हालांकि बच्ची के लापता होने के बाद त्रिकुटा नगर पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर लिया था, लेकिन मंगलवार को पुलिस को बच्ची का शव फैक्ट्री परिसर में ही गटर से मिला।

बच्ची के पिता मोहम्मद शफीक निवासी करेयानी तालाब, नरवाल वाला ने दो अक्टूबर को त्रिकुटा नगर पुलिस को बच्ची के लापता होने की सूचना दी थी। बच्ची के पिता ने बताया था कि पांच वर्षीय बेटी शुमी अपनी मां के साथ अखरोट फैक्ट्री में गई थी। बच्ची की मां वहां काम कर रही थी, जबकि वह बाहर मैदान में खेलने लगी। कुछ देर बाद उसकी पत्नी ने देखा कि बच्ची वहां पर नहीं है। उसने बच्ची की तलाश शुरू की, लेकिन वह कहीं नहीं मिली। बच्ची के पिता ने बेटी के अपहरण की आशंका जताई थी। पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद बच्ची की तलाश शुरू कर दी थी। एसएचओ त्रिकुटा नगर दीपक पठानिया ने बताया कि फैक्ट्री परिसर में ही बने गटर में बच्ची का शव मिला है। गटर का ढक्कन टूटा हुआ था। उसमें गिरने की आशंका को देखते हुए गटर को साफ करवाया गया तो अंदर बच्ची का शव मिला। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसे जीएमसी के शवगृह में रखवा दिया है। बच्ची के शव का डाक्टरों के बोर्ड से पोस्टमार्टम करवा कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।