जम्मू रेलवे स्टेशन के भीतर और बाहरी क्षेत्रों में कूडा बीनने को लेकर कुछ लोगों में खूनी संघर्ष हो गए। हमले में म्यांमार का रहने वाला एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गए। उसे उपचार के लिए जम्मू के राजकीय मेडिकल कालेज व अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने मुख्य आरोपित हीरा लाल निवासी बिहार इन दिनों मराठा मोहल्ला में रहा है के विरुद्ध हत्या का प्रयास, तेजधार हथियारों का प्रयोग करने, धमकाने समेत अन्य आपराधिक धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।
यह कातिलाना हमला बीते बुधवार देर रात को जम्मू रेलवे स्टेशन से सटी मराठा बस्ती में हुआ। इस बस्ती में रहने वाले अधिकतर लोग जम्मू रेलवे स्टेशन और उसके आसपास के क्षेत्रों में कूडा बीनने का काम करते है। बस्ती में रहने वाले शफी आलम पुत्र शमसू दीन मूलत: निवासी म्यांमार और हीरा लाल निवासी मूलत: निवासी बिहार में कूडा बीनने को लेकर कहा सुनी हो गई। इससे पूर्व भी दोनों में कई बार इस बात को लेकर झगड़ा हो चुका है। दरअसल रेलवे स्टेशन के जिस हिस्से से हीरा लाल कूडा बीनता है उसी हिस्से में शफी आलम भी कूडा एकत्रित करता है।
दोनों एक दूसरे को किसी और स्थान पर जा कर कूडा एकत्रित करने के लिए कहते है। दोनों में पहले इस बात को लेकर बहस हुई। बस्ती में रहने वाले कुछ लोगों ने बीच बचाव कर दोनों के झगड़े को सुलझाने का प्रयास किया। दोनों में विवाद बढ़ता ही चला गया है। आरोप है कि इस दौरान हीरा लाल अपनी झुग्गी में गया और अपने कुछ साथियों को लेकर मौके पर पहुंचा। हीरा लाल तेजधार हथियार भी साथ लेकर आया था। हीरा लाल ने वापस आते ही तेजधार हथियार निकाल कर शफी आलम पर तेजधार हथियार से ताबड़तोड वार करने शुरू कर दिए। शफी आलम को गंभीर रूप से घायल कर हमलावर मौके से फरार हो गए। घटना स्थल पर पहुंचे पुलिस कर्मियों ने घायल को अस्पताल में दाखिल करवाया।